एक हमसफर जिन्दगी का ।।

खूबसूरत हमसफर हो या ना हो,
उससे कोई शिकायत नहीं ।।
हर मुसीबत में साथ हो
उससे बड़ा ऐसास कोई नहीं ।।
पलभर ही सही दोस्तों की साथ रहे
जिन्दगी की यह पहल यही ख़त्म होगी ।।
अफसोस नहीं है कोई बात
जब हमसे कोई रूठासा हो ।।
मना लेंगे हम उसे
दोस्ती की वास्ता दे कर ।।
जिन्दगी सवर सी जाएगी
थोड़ा साथ अपनों का हो जाए ।।

यादें हमेशा रुलाती हैं।।

आंखों से निकलने वाले आंसू
कभी जूठ नहीं बोलने देती है ।।

कही खामोशियां छुपी हुई हैं
तो कही नाराज़गी दिल में भरी हुई है ।।

पता नहीं आज जिंदगी कोनसा नया मोड़ ले आएगी
कभी आंसुओ ने रुलाया हैं कभी अपनो रुलाया ।।